कंप्यूटर मेमोरी क्या हैं?-Computer Memory in Hindi

Computer Memory in Hindi: आज Computer दुनिया के लिए सबसे Useful Technology साबित हुई है यह बात लगभग सभी लोग जानते है ही क्योंकि हर जगह इसका Use किसी ना किसी रूप में देखने को मिल ही जाता है। लेकिन यह हम सभी जानते है कि Computer मात्र अकेला कोई काम नही करता है बल्कि इसके साथ अन्य कई Useful Part इसके साथ जुड़े होते है जो Computer जैसी Technology में अपना काफी अहम योगदान प्रोवाइड करते है।

जब Computer Part की बात करते है तो Computer Memory जो कि Computer का काफी Use ful Part होता है क्योंकि अगर Computer में जो हमारा Data होता वह सबसे Important होता है जिसे Computer Memory में Save किया जाता है जिसे हम जब चाहे अपने Computer में Access कर सकते है।

अक्सर देखा जाता है कि Computer का इतना ज्यादा इस्तेमाल होने के बाद भी लेकिन आखिर कंप्यूटर मेमोरी क्या है? Computer Memory In Hindi और यह कितने प्रकार की होती है? इस तरह की जानकारी अभी लोगो को नही है।

शायद आप भी Computer Memory से जुड़ी इस Useful जानकारी से अंजान होंगे लेकिन अब आपको इस Article में इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में मिलने वाली है जो कि आपके लिए बहुत Useful साबित हो सकती है।

So Friends अगर आप इसके बारे में Detail में जानना चाहते है तो आपको हमारे इस आर्टिकल को Last तक Carefully Read करना होगा।

Computer Memory क्या है? -What is Computer Memory in Hindi

Computer Memory Data को Computer में Save रखती है और जरुरत पड़ने पर उसे User के लिए उपलब्ध कराती है। इसे हम सीधे शब्दों में समझ सकते है कि Computer Memory एक तरह से Computer का मस्तिष्क होती है जो Computer के सारे Data को करके रखती है और जरूरत पड़ने पर उसे User को Provide कराती है।

कंप्यूटर मेमोरी सेल के छोटे – छोटे भागों में Divide होती है और इन सेल की Memory में अपनी एक अलग पहचान होती है जिसने Computer का स्टोर किया जाता है। computer memory में जो डेटा सेव होता है वह Binary Digit 0, 1 के रूप में स्टोर होता है।

Computer Memory के प्रकार ( Types Of Memory in Hindi)

Computer Memory को मुख्य रूप से 3 भागों में उनके काम के अनुसार अलग – अलग बांटा गया है जिनके बारे में नीचे हमने एक – एक करके Detail में बताया है –

  1. Primary Memory
  2. secondary Memory
  3. Cache Memory

Primary Memory:

Primary Memory computer की मुख्य Memory होती है इसलिए इसे Memory को main Memory या Valitile Memory के नाम से भी जाना जाता है यह Memory Computer पर किये जा रहे काम और उस Data को Save रखती है और काम खत्म हो जाने के बाद यह इस Data को खत्म कर देती है और computer पर आगे काम के Data को Stor करने लगती है। Memory मुखता 2 प्रकार की होती है जो कि निम्लिखि>Computer Memory क्या है? -What is Computer Memory in Hindi>Rom

Ram (Random Access Memory):

Ram जिसका पूरा नाम (Random Access Memory होता है, इस Memory का Use Data को Read और Write करने के लिए किया जाता है इसलिए इस मेमोरी को कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी भी बोला जाता है।

लेकिन यह एक ऐसी मेमोरी जिसमे Supply मिलने तक डेटा सेव रहता है और जैसे supply बन्द होती है बैसे ही इसका डेटा खत्म हो जाता है। Ram मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है –

  1. DRAM (Dynamic Memory)
  2. SDRAM (Static Memory)

ROM (Read Only Memory):

ROM जिसका पूरा नाम Read Memory Memory होता है, इस Memory में Power Supply बन्द होने के बाद भी Data उपलब्ध रहता है। इस Memory में Save Data को सिर्फ Read किया जा सकता है इसमें कोई भी बदलाव नही किया जा सकता है। इसलिय इस Memory को Read Only Memory कहाँ जाता है।

Feature Of primary Memory:

Primart Memory की क्या – क्या>Computer Memory के प्रकार ( Types Of Memory in Hindi)s="ub_styled_list " id="ub_styled_list-1431e035-e3d2-4dad-904a-d0c1e618d7dc">

  • Primary memory CPU का मुख्य भाग होती है।
  • इस मेमोरी में पावर जाने के बाद मौजूद डेटा खुद खत्म हो जाता है।
  • इस memory के बिना कंप्यूटर रन नही करता है।>Primary Memory:2>Secondary Memory:

    Secondary memory एक ऐसी Memory होती है जो Computer में लंबे समय तक Data को store करके रखती है मतलब की इस memory में जो भी डेटा Store होता है वह Permanent इसमें Save हो जाता है, जिसे User जब चाहे अपने Computer में Access कर सकता है।

    Secondary Memory Computer का मुख्य भाग नही होता है बल्कि इसे अलग से Computer के साथ जोड़कर इसमे data सेव किया जाता है और इसमे सेव डेटा को Access किया जाता है। जैसे कि Hard Disk, DVD, Pan Drive आदि।

    Feature Of Secondary Memory:

    Secondary Memory की कौन – कौन सी विशेषताएं होती है वह निम्लिखित है –

    • इस मेमोरी का इस्तेमाल डाटा को सेव करने के लिए किया जाता है।
    • यह Memory Data को परमानेंट स्टोर रखती है।
    • इस Memory को non-volatile कहाँ जाता है।
    • Ram (Random Access Memory):

      Cach memory को Computer की सबसे तेज़ Memory माना जाता है क्योंकि यह Memory Computer को high Speed Up provide करती है। इस memory में मुख्य रूप से अधिक Frequently Use होने वाले Program को Store किया जाता है ताकि CPU अपनी तेज गति से काम कर सके।

      अगर इसे सरल शब्दों में समझे तो यह Memory CPU और Computer की मुख्य Memory के बीच मौजूद होती है जिसे CPU काम करने से पहले ही इस Memory में अपना Data Store कर लेता है जिसे यह तेज़ गति के साथ काम करने में सक्षम बनता है।

      Feature Of Cache Memory:

      Cache Memory के Feature कुछ इस प्रकार है –

      • Cache Memory अन्य memory से Fast होती है।
      • यह Data को कम समय मे Access कर लेती है।
      • यह >ROM (Read Only Memory): रखती है।

      Computer की Memory unit:

      Computer memory में Store होने वाला डेटा बाइनरी डिजिट 0 से लेकर 1 बाइनरी संख्या में स्टोर होता हैं और यह प्रत्येक बाइनरी डिजिट संख्या एक बिट को Provide करती है । जानकारी दे दे कि Memory में जो डेटा सेव होता है उसे represent करने के लिए छोटे – छोटे बाइनरी डिजिट का एक सेट बनाया जाता है इस सेट की शुरुआत 8 डिजिट या 8 बिट हो सकती है।

      अब जैसे छोट>Feature Of primary Memory:े बिट का सेट बनाया जाता है बैसे ही बढ़े डेटा को represent करने के लिए बड़े बिट के सेट बनाये जाते है जिनके बारे में आप यहां detail में देख सकते है –

      • Bit = 0 या 1
      • 4 Bit = 1 Nibble
      • 2 Nibble और 8 Bit = 1 Byte
      • 1024 Byte = 1 KB (Kilo Byte)
      • 1024 KB = 1 MB (Mega Byte)
      • 1024 MB = 1 GB (Giga Byte)
      • 1024 GB = 1 TB (Tera Byte)
      • 1024 TB = 1 PB (Penta Byte)
      • 1024 PB = 1 EB (Exa Byte)
      • 1024 EB = 1 ZB (Zetta Byte)
      • 1024 ZB = 1 YB (Yotta Byte)
      • 1024 YB = 1 BB (Bronto Byte)
      • 1024 BB = 1 GB (Geop Byte)

      Conclusion:

      दोस्तों आज के इस आर्टिकल में बस इतना ही था. आसा करत>Secondary Memory:r memory in hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गये होंगे. अगर आपको computer से जुरे और भी जानकारी सहिये तो हमे जरुर बताये, हम आपके साथ सभी जानकारी share करेंगे. अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आया हो तो आपने आपने दोस्तों के साथ साथ Facebook, Twitter or LinkedIn पर भी share करना ना भूले, धन्यबाद||

        >Feature Of Secondary Memory:>
      • Feature Of Cache Memory:"Linkedin" Title="Linkedin" class="heateorSssSharing heateorSssLinkedinBackground" onclick='heateorSssPopup("http://www.linkedin.com/shareArticle?mini=true&url=https%3A%2F%2Foddwit.com%2F%25e0%25a4%2595%25e0%25a4%2582%25e0%25a4%25aa%25e0%25a5%258d%25e0%25a4%25af%25e0%25a5%2582%25e0%25a4%259f%25e0%25a4%25b0-%25e0%25a4%25ae%25e0%25a5%2587%25e0%25a4%25ae%25e0%25a5%258b%25e0%25a4%25b0%25e0%25a5%2580-%25e0%25a4%2595%25e0%25a5%258d%25e0%25a4%25>Computer की Memory unit:5b9%25e0%25a5%2588%25e0%25a4%2582-comput%2F&title=%E0%A4%95%E0%A4%82%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A5%82%E0%A4%9F%E0%A4%B0%20%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%AE%E0%A5%8B%E0%A4%B0%E0%A5%80%20%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%BE%20%E0%A4%B9%E0%A5%88%E0%A4%82%3F-Computer%20Memory%20in%20Hindi")'>
      • Conclusion:atsappSvg">

Leave a Comment