हार्डवेयर क्या हैं? What is Computer Hardware in Hindi

What is Computer Hardware in Hindi:- Computer एक ऐसी Electronic Device है जो हमारे कामों को आसान और सरल बनाता है लेकिन जैसा कि सभी जानते है कि Computer कई छोटे – छोटे उपकरण और Program से मिलकर बना होता है तब जाकर Computer बनकर तैयार होता है।

जब हम Computer के उपकरण की बात करते है तो Hardware का नाम सबसे आगे आता है क्योंकि Computer को पर वर्क करने के लिए हार्डवेयर की सबसे ज्यादा जरूरत होती है बिना hardware के कंप्यूटर पर कार्य कर पाना बहुत मुश्किल काम है।

लेकिन आखिर hardware क्या है? यह कितने प्रकार के होते हैं इस तरह कई सवाल जो सीधे Hardware से जुड़े है जो कि काफ़ी लोगो के मन मे सवाल बने हुए।

इसलिए आज हम अपने इस आर्टिकल में Hardware से जुड़ी सभी जानकारी को अपने इस आर्टिकल की मदद से आपके साथ Share करने जा रहे है जो आपके लिए काफी Useful साबित होने वाली है । तो चलिये जानते है –

Hardware क्या है? | What is hardware in Hindi

Hardware Computer के भौतिक भाग होते है जिन्हें कोई भी देख सकता है और छू सकता है। जैसे कि Keyword, printer Mouse, Monitor आदि। हार्डवेयर कंप्यूटर के ऐसे पार्ट है जिनके बिना कंप्यूटर पर काम करना मुश्किल है। ले आख़िर ये Hardware कौन से होते है और कंप्यूटर में कहां मौजूद होते है चलिये इनके बारे में थोड़ा डिटेल।में जानने की कोशिश करते है –

Hardware के प्रकार – Types of hardware in Hindi

hardware कंप्यूटर के भौतिक भाग में आते है जो एक नही बल्कि कई प्रकार के होते है जिनके बारे में आप यहां डिटेल में पढ़ सकते है –

System Unit

सिस्टम यूनिट एक बक्से के सामान देखने वाला बॉक्स होता है जिसे हम Contener कहते है क्योंकि इसमें Computr के कई Electeonic Devices को जोड़ा जाता है।

Input Device

इनपुट D>Hardware क्या है? | What is hardware in Hindicomputer तक अपनी सूचना को पहुंचाया जाया जाता है जैसे की –

  1. Keyboard
  2. Scanner
  3. Mouse

keyboard

keyboard Computer Hardware का वह पार्ट होता है जिसके मदद से हम कंप्यूटर डिस्प्ले पर अपनी सवाल को Enter करते है। हम कहे सकते की बिना Keyboard के कंप्यूटर में सूचना को पहुँचाना मुश्किल है।

Scanner

यह एक ऐसा Hardware है जो computer के बिल्कुल बाहर होता है एयर इसे अलग से कंप्यूटर में कनेक्ट किया जाता है इसकी मदद से Document को के चित्र के रूप में प्रदर्शित किया जाता है।

mouse

Mouse की Help से Cursor को control किया जाता है, इसमे मुख्य 2 से 3 प्रकार की Key होते है Left and Right key.

output Device

यह ऐसी Device होती है जो User के द्व>Hardware के प्रकार – Types of hardware in Hindiे कि –

  1. Speaker
  2. Printer
  3. Monitor

speaker

speaker Computer का बाहरी Hardware होता है जिस>System Unitको तेज़ किया जाता है। मतलब की अगर आपको तेज़ संगीत सुनने का शौक है तो इसका इस्तेमाल कर सकते है।

Printer

Printer भी एक Output Device है जो किस भी Original Document की Hard copy को print करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

>Input Device3>

यह एक TV की तरह दिखने वाला इलेक्ट्रॉनिक Device है जो User के द्वारा Input की गई सूचना को Output के रूप में दिखाने का कार्य करती है।

internal Parts

Internal Part computer के वह Parts होते है जिन्हें computer के अंदर लगाया जाता है क्योंकि यह बहुत नाजुक होते है। इसलिय इनकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इन्हें कंप्यूटर के अंदर इनस्टॉल किया जाता>keyboard यह कंप्यूटर के अंदर होते है इसलिय इन्हें देख पाना मुश्किल है। Internal Parts जैसे

  1. Ram
  2. CPU
  3. Hard Disk
  4. Motherboard
  5. SMPS

Ram

Ram जिसका पूरा नाम Random Access Memory होता है मतलब की यह एक तरह की Memory Card होती है जो Computer के Secondary Memory से कम साइज की होती है।

>Scannerh3>

CPU जिसका पूरा नाम Central Processing Unit होता है , यह कंप्यूटर का एक ऐसा पार्ट होता है जिसमे कई छोटे-छोटे Hardware लगे होते है। CPU का मुख्य काम Computer को Control करने का होता है।

hard Disk

Hard disk एक प्रकार कि मेमोरी होती है जो कंप्यूटर के अंदर मौजूद होती है कंप्यूटर के जो भी फ़ाइल, डाटा हो>mouse इसमे स्टोरेज होते है।

Motherboard

Motherboard Computer का काफी Important part होता है जो को कंप्यू>output Deviceता है इसे देखने के लिए कंप्यूटर को खोलना पड़ता है। Motherboard मुख्य रूप से Ram, Hard disk, smps, Graphic card जैसे Computert को जोड़े रखता है।

SMPS

SMPS भी एक Hardware है जिसका पूरा नाम Switch mode Power supply होता है । यह मुख्य रूप से कंप्यूटर के अलग – अलग पार्ट को Power देने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

>speaker"su-divider su-divider-style-dashed" style="margin:15px 0;border-width:5px;border-color:#11121d">

Hardware और Software में अंतर – Difference between Hardware and Software in Hindi

कंप्यूटर एक Electronic Device है जो कुछ Hardware और कुछ Software से मिलकर बना होता है Computer के लिए hardware का होना जितना जरूरी है उतना ही जरूरी S>Printerना है अगर इसमे से कोई भी ना हो तो Computer ओर कार्य नही किया जा सकता है – लेकिन जरूरी सवाल की आख़िर Hardware और software के बीच क्या अंतर होता है चलिये इस बारे में कुछ Points के बारे में जानने की कोशिश करते है –

  • hardware Computer के बाहर मौजूद होते है जिन्हें कोई देख व छू सकता है।
  • Hardware के बिना Computer पर काम करना मुश्किल होता है।
  • Software में अनेक प्रोग्राम का Collection होता है जो Computer को कार्य को पूरा करने में मदद करते है।
  • Hardware और software एक दूसरे पर निर्भर रहते है और अपना कार्य क>internal Partsरहते है। हम कहे सकते है कि इन दोनों के बिना कंप्यूटर किसी काम का नही रहे जाता है।
  • Hardware को एक बार ख़रीद ले तो वह काफ़ी लम्बे समय तक चलते है लेकिन Software को बनाने में काफ़ी खर्च करना पड़ता है और साथ ही इनकी जल्दी जल्दी आवश्यकता होती रहती है।

Hardware अपग्रेडेशन क्या है? | What is hardware upgrade in Hindi

जब हमें कंप्यूटर पर अधिक कार्य करना होता है या फिर कंप्यूटर की कार्य क्षमता को बढ़ाना होता है तो उसके लिए एक या एक से अधिक Device को नई technology के साथ जोड़ते है तो उसे ही Hardware अपग्रेडेशन कहते है । जैसे अगर अभी हमारे Computer में 4GB DDR2 Ram है जो आपके अनुसार कम है लेकिन अब हम इसे >Ramहते है और इसे 8GB DDR2 में बदल लेते है तो इस Process को Hardware अपग्रेड शन कहते है।

Hardware Engineer कैसे बने?

अगर आपको कंप्यूटर के बारे में अच्छी Knowledge है तो आपके पास Hardware Engineer बनने का अच्छा मौका हो साबित हो सकता है क्योंकि आज Computer का इस्तेमाल हर क्षेत्र में किया जा रहा है जिसे Hardware Engineer की demand काफी बढ़ती जा रही है। लेकिन सवाल आता कि आख़िर Hardware इंजीनियर कैसे बने तो चलिये इसके लिए आप नीचे दिए गए पॉइंट्स को फॉलो कर सकते है –

Hardware Engineer बनने के लिए योग्यता:

  • 12th Math, Phys>hard Diskके साथ पास होना चाहिए।
  • English Subject की अच्छी Knowledge होना चाहिए।
  • Computer के विषय मे सही जानकारी होना चाहिए।

Hardware Engineer बनने के लिए अध्ययन

अगर आप 12th पास कर चुके है और Hardware Engineer बनना चाहते है तो इसके लिए Diploma, या Degree के एडमिशन ले सकते है ऐसी काफ़ी संस्थान है जो इस>Motherboardै। जानकारी दे दे कि यह कोर्स मुख्य रूप से 2 साल से 3 साल तक का होता है। बाकी इसके लिए आप कौन से कोर्स या डिप्लोमा कर सकते है वह कुछ इस प्रकार है –

  • Hardware Diploma Course
  • Hardware Networking Course
  • Computer CAlC Course
  • Diploma Micro – Processing Course
SMPS2>Conclusion(निस्कर्स):

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में बस इतना ही था. आशा करता हु की आप सबको हमारी आज का आर्टिकल What is hardware in Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गये होंगे. अगर आपके पास कंप्यूटर हे तो आपको हार्डवेयर के बारे में भी जानना बोहोत ही जरुरी हे. अगर आपको हार्डवेयर के बारे में कोई भी और जानकारी चाहिये तो हमे जरुर बताये. और आपको आज का आर्टिकल कैसा लगा बताना ना भूले. आर्टिकल अत्च्चा लगा तो आपने दोस्तों के साथ साथ Facebook, Twitter और Lin>Hardware और Software में अंतर – Difference between Hardware and Software in Hindiateor_sss_sharing_container heateor_sss_horizontal_sharing' heateor-sss-data-href='https://oddwit.com/what-is-computer-hardware-in-hindi/'>

  • Hardware अपग्रेडेशन क्या है? | What is hardware upgrade in Hindi)})());">
  • Hardware Engineer कैसे बने?eight:35px;" title="More" alt="More" class="heateorSssSharing heateorSssMoreBackground" onclick="heateorSssMoreSharingPopup(this, 'https://oddwit.com/what-is-computer-hardware-in-hindi/', '%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A1%E0%A4%B5%E0%A5%87%E0%A4%AF%E0%A4%B0%20%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%BE%20%E0%A4%B9%E0%A5%88%E0%A4%82%3F%20What%20is%20Computer%20Hardware%20in%20Hindi', '' )" >
Hardware Engineer बनने के लिए योग्यता:ware-in-hindi/'>
  • Hardware Engineer बनने के लिए अध्ययन.facebook.com/sharer/sharer.php?u=https%3A%2F%2Foddwit.com%2Fwhat-is-computer-hardware-in-hindi%2F")'>

Leave a Comment